कलेक्ट्रेड के सभा कक्ष में आयोजित हुआ शिक्षक समस्या निवारण शिविर, शिक्षक संघों ने जताया अविश्वास


दमोह: दमोह कलेक्ट्रेट के सभा कक्ष में आज शिक्षक समस्या निवारण शिविर का आयोजन दमोह कलेक्टर तरूण राठी के दिशा निर्देश पर आयोजित हुआ इस शिविर में जिला शिक्षा अधिकारी बीआरसी मौजूद रहे 53 शिक्षकों के द्वारा अपनी समस्या से संबंधित आवेदन यहां पर प्रस्तुत किए आवेदनों पर समय अवधि में कार्यवाही की मांग की, अध्यापक, शिक्षक संघों का आरोप है कि शिक्षकों की समस्या के लिए पहले भी शिविर आयोजित किए जाते रहे हैं। आवेदन लिए जाते हैं, लेकिन बाद में वे फाइलों में दबकर रह जाते हैं। कोई कार्यवाही नहीं होती ।इस बार ऐसा नहीं होगा ऐसी उन्हें उम्मीद थी, लेकिन केवल शिक्षा विभाग के अधिकारी मौजूद रहने से समस्या हल होने पर उन्हें काफी संदेह है, शिक्षकों का कहना है की, दमोह कलेक्टर इस शिविर में मौजूद नहीं है, अनुकंपा नियुक्ति में आज तक कार्यवाही नहीं हुई। प्रदेश सरकार शिक्षकों के वेतन से एक निश्चित राशि की कटौती प्रति माह कर रही है। लेकिन आज दिनांक तक सरकार का जो अंश है ,वह जमा नहीं किया गया। प्रत्येक शिक्षक के लिए लगभग 2लाख की राशि सरकार की जमा करनी है। लेकिन शिक्षकों की जो राशि कटती है , उसके संबंध में कोई जानकारी शिक्षा विभाग शिक्षकों को नहीं दे रहा है। ,यह राशि कहां जा रही है, शिक्षकों की काफी लंबित समस्या है ।जिन पर ध्यान नहीं दिया गया और भी कई आरोप लगाए गए इसी बीच शिक्षकों के द्वारा पुरानी पेंशन पद्धति लागू किए जाने की मांग की, वर्ष 2005 से नई पेंशन लागू की गई है। जिसमें रिटायर्ड होने के बाद शिक्षक के हाथ में हजार, बारह सो रुपए प्रतिमाह राशि प्राप्त होती है पूर्व के शिक्षकों को उचित राशि मिलती है पूर्व की भांति उन्हें भी पेंशन उपलब्ध कराई जाए। वहीं शिक्षकों के संबंध में जो जांच आवेदन पर कार्यवाही की गई, शिक्षक निर्दोष पाए गए ,बावजूद इसके शिक्षकों की वेतन वृद्धि प्रारंभ नहीं हुई।,

Leave a Reply

Your email address will not be published.