झाबुआ की शुभदा भोंसले गायकवाड़ बनीं देश की सबसे युवा महिला अंपायर, रोशन कर दिया नाम


झाबुआ. मध्य प्रदेश की बेटी का जलवा क्रिकेट के मैदान में भी देखने को मिल रहा है. इंदौर की शुभदा भोंसले गायकवाड़ ने खेल जगत की दुनिया में नया मुकाम हासिल किया है. झाबुआ जिले के थांदला कॉलेज में खेल अधिकारी के पद पर पदस्थ शुभदा देश की सबसे युवा महिला अंपायर हैं. वे इस वक्त ओमान में चल रही लीजेंड लीग क्रिकेट में अंपायरिंग कर रही हैं. प्रतियोगिता में 3 टीमें हिस्सा ले रही हैं इंडिया महाराजा, एशिया लॉयन, और वर्ल्ड जॉइंट.

इन टीमों में भारत के वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह, मोहम्मद कैफ, इरफान पठान, यूसुफ पठान, पाकिस्तान के शोएब अख्तर, मिस्बाह उल हक, श्रीलंका के जय सूर्या, मुथैया मुरलीधरन के साथ डेरेन सैमी, हर्शल गिब्स जैसे धाकड़ खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं. लीजेंड लीग क्रिकेट प्रतियोगिता में महिला सशक्तिकरण का संदेश दिया जा रहा है. इसलिए इस टूर्नामेंट में 4 महिलाएं अंपायरिंग कर रही हैं. शुभदा के अलावा दक्षिण अफ्रीका, पाकिस्तान और हांगकांग की महिला अंपायर इसमें हिस्सा ले रही हैं. इन सब में शुभदा सबसे युवा महिला अंपायर हैं.

पिता को बेटी पर गर्व

शुभदा के पिता को उन पर गर्व है. उनके मुताबिक वो क्रिकेट खिलाड़ी भी रही हैं. लेकिन, हमेशा मैदान में बने रहने के लिए अम्पायर बनी है. थांदला कॉलेज के प्राचार्य भी शुभदा पर गर्व करते हैं. थांदला कॉलेज को शुरू हुए 38 साल हो चुके हैं, लेकिनअब तक यहां खेल अधिकारी का पद खाली था. पहली नियुक्ति शुभदा भोंसले के रूप में हुई है. जानकारी के मुताबिक, 20 जनवरी को शुरू हुई प्रतियोगिता में पहला मैच इंडिया महाराजा और एशिया लाइन के बीच खेला गया. इसी मैच में शुभदा ने अंपायरिंग की. प्रतियोगिता में 6 मैच खेले जाएंगे. हर टीम एक-दूसरे के साथ दो मैच खेलेगी. उसके बाद फाइनल होगा.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.