“स्वामित्व योजना” जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में आबादी भूमि पर सर्वे शुरू स्वामित्व योजना को लेकर दिया प्रशिक्षण


सह.सम्पादक अतुल जैन की रिपोर्ट


शिवपुरी। 
जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में काबिज ग्रामीणों को आबादी भूमि में मालिकाना हक देने के उद्देश्य से शिवपुरी जिले को भी स्वामित्व योजना में शामिल किया गया है।
स्वामित्व योजना के क्रियान्वयन को लेकर गत दिवस प्रशिक्षण का आयोजन किया गया जिसमें डिप्टी कलेक्टर बिजेन्द्र यादव ने स्वामित्व योजनांतर्गत आवश्यक बिन्दुओं पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को उनकी आबादी भूमि में मालिकाना हक देने के उद्देश्य से प्रदेश में स्वामित्व योजना शुरू की गई है। इस योजना में गांवों की आबादी भूमि का सर्वे कर रिकॉर्ड तैयार किया जाएगा। उसके आधार पर ग्रामीणों को मालिकाना हक दिया जाएगा। सर्वे के डाटाबेस से पंचायत स्तर पर संपत्ति रजिस्टर भी तैयार किए जाएंगे। यहां सर्वे का कार्य तीन चरणों में किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि स्वामित्व योजना के अंतर्गत आबादी सर्वे के लिए आयुक्त भू-अभिलेख मप्र द्वारा जिले की अधिसूचना जारी कर दी गई है। अब जिले में गांवों की आबादी क्षेत्र का ड्रोन के माध्यम से प्रारूप नक्शा तैयार कराया जाकर ग्रामीण आबादी क्षेत्र के आधिपत्य धारियों को अधिकार अभिलेख प्रदाय कराये जाने का कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। इससे ग्रामवासियों को ग्रामीण संपत्तियों का अधिकार अभिलेख प्राप्त हो सकेगा। प्रत्येक संपत्ति धारक को उसकी संपत्ति का स्वामित्व प्रमाण पत्र मिलेगा, जिससे संपत्तियों पर बैंक से ऋण लेना आसान होगा। साथ ही संपत्तियों के पारिवारिक विभाजन, संपत्ति हस्तांतरण की प्रक्रिया सुगम होगी और पारिवारिक सम्पत्ति के विवाद कम होंगे। इसी प्रकार ग्राम पंचायतों को संपत्ति शुल्क के रूप में पंचायत को स्थानीय आय के साधन प्राप्त होंगे, पंचायत स्तर पर ग्राम विकास की योजना बनाने में सुविधा होगी, शासकीय व सार्वजनिक संपत्ति की सुरक्षा व रख रखाव आसान हो जायेगा। साथ ही संपत्ति संबंधित विवादों में कमी आयेगी और संपत्ति के नामांतरण एवं बटवारा का प्रत्यक्ष अधिकार प्राप्त हो सकेगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.