श्री राठौर तीर्थ के निर्माणकर्ताओं का आष्टा मे भव्य समागम


वीरेंद्र द्वारा रु. 214214 व 1600 वर्ग फिट जगह दान में दी

उज्जैन। उभरता राठौर समाज मिशन की महत्वकांक्षी योजना श्री राठौर तीर्थ के निर्माणकर्ताओं का भव्य समागम आष्टा में हुआ। मिशन के सेवाधर्मी जितेंद्र राठौर ने बताया कि श्री राठौर तीर्थ के आजीवन संकल्पकर्ताओं का संकल्प, समर्पण व सम्मान का आयोजन भगवती पैलेस अष्टा में वीरेन्द्र राठौर, वैष्णवी ग्रुप आष्टा द्वारा किया गया।
सम्मान समारोह में मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात, दिल्ली आदि राज्यों से समाज के वरिष्ठ एवं सेवाधर्मी उपस्थित हुए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्र के विधायक रघुनाथसिंह मालवीय, श्री राठौर तीर्थ की संकल्पनाकर्ता आरएन राठौर सामाजिक उत्प्रेरक उभरता राठौर समाज मिशन, नलखेड़ा के वरिष्ठ डॉ. नरेन्द्र राठौर, एमजेएसजे रियल स्टेट इंदौर के डायरेक्टर मनोज राठौर एवं राठौर तीर्थ के प्रथम संकल्पकर्ता डॉ. आर एस राठौर छतरपुर थे। प्रारंभ में मां वैष्णवी चित्र के समक्ष द्वीप प्रज्वलन व महाआरती कर, अतिथियों का साफ़ बंधकर पुष्पमालाओं से स्वागत देवकरण राठौर, युवा उद्यमी वीरेन्द्र राठौर आष्टा के परिवार द्वारा किया गया।
मिशन की योजनाओं की जानकारी देते हुए वरिष्ठ सेवाधर्मी दिलीप राठौर खरगोन ने बताया कि प्रदेश के सामाजिक विद्यार्थियों के लिए मेरिट में आओ एक लाख का पुरस्कार पाओ, भ्रूण हत्या व लिंग अनुपात में अंतर को मिटाने के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, युवाओं के लिए स्वरोजगार यात्राओं से जनजागृति व आत्मनिर्भर समाज के कार्य को पूरे भारत में किया जा रहा है।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में विधायक मालवीय, इंदौर के समाजसेवी मनोज राठौर ने मिशन द्वारा किए जा रहे सेवा कार्यों की भूरी भूरी प्रशंसा की एवं उसके निर्माण में हरसंभव योगदान करने का संकल्प लिया। राठौर तीर्थ के कल्पनाकर एवं मिशन के सामाजिक उत्प्रेरक आर.एन. राठौर ने बताया कि उज्जैन इंदौर के आसपास करीब 25 एकड़ भूमि पर तीर्थ का भव्य निर्माण होगा, जिसमें 150 बिस्तरों का हॉस्पिटल, 100 कमरों का छात्रावास, आनंद आश्रम, महामानव मंदिर, ऑडिटोरियम, रिसर्च सेंटर एवं राठौर समाज के वीरसपूतों की संस्कृतियों के संग्रहालय के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है। निर्माण में पूरे देश से संकल्पकर्ताओं द्वारा स्वप्रेरणा से एक एक लाख रुपए दान देकर आजीवन सदस्य के बन रहे हैं, अब तक यह संख्या 60 हो गई है।
आज तीर्थ के 51वें संकल्पकर्ता वीरेन्द्र राठौर द्वारा 214214 रु. व 1600 वर्ग फिट भूमि मिशन को दान में दी गई। इस अवसर पर सम्पूर्ण समाज ने वीरेन्द्र व उनके परिवार का अभिनंदन किया गया।
आजीवन सदस्य बने
मनीष राठौर ईटीवी जीरापुर, शुभम, भुवनेश राठौर (हेमू चीले वाले) ग्वालियर, अशोक राठौर लखनऊ उप्र, डॉ. श्री बालमुकुंद राठौर ढोढर, दिलीप राठौर खरगोन, सुनील राठौर मंडलीय, डॉ. कालीचरण राठौर मेहगांव, दुर्गादास राठौर आष्टा, देवेंद्र राठौर आष्टा, ने एक लाख का दान देकर आजीवन सदस्य बनने का संकल्प लिया।
तीर्थ निर्माण हेतु श्री राठौर तीर्थ न्यास का भी गठन किया जाना है, जिसके कुल 101 आजीवन सदस्य रहेंगे। तीर्थ के निर्माण में करीब एक हजार करोड़ रुपए की राशि का व्यय अनुमानित है, तीर्थ के भूमि पूजन का लक्ष्य 31 दिसंबर 2022 तथा 2025 तक पूर्ण होने की उम्मीद है।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से संतोष राठौर मुंदी, विनयकुमार राठौर अमदाबाद, विजय राठौर कसरावद, हरीश राठौर, ललित राठौर इंदौर, राजेश सोलंकी खाचरौद, मुकेश राठौर भोपाल, मोहनलाल राठौर गौतमपुरा, एड रामनिवास राठौर प्रथम जनसेववक नागाजी धाम पोरसा, मदनलाल राठौर साबूखेड़ी, एनके सोलंकी आगर, श्यामलाल राठौर रंगवासा, शिवनारायण राठौर दानी गेट, दिलीप मगरवा रविन्द्र राठौर पत्रकार, विजय राठौर, गोपाल राठौर, नीतिन राठौर, वरुण देवड़ा इंदौर, सिद्धू राठौर तलेन, शिवशंकर राठौर भोपाल, राजकुमार राठौर, अध्यक्ष पद्मवंशी राठौर समाज संजय राठौर श्रीजी इंदौर, कमलेश राठौर जयपुर, महेश राठौर, जितेंद्र राठौर, मोहनलाल बेड़िया, आनंदीलाल राठौर बागली एवं प्रबुद्ध समाजसेवी एवं उभरता राठौर मिशन समाज के सेवा धर्मी एवं संकल्पकर्ता उपस्थित हुए। संचालन रूपेश राठौर ने किया। आभार हरीश राठौर ने माना।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.