अल्पसंख्यक कल्याण के लिए बजट राशि पर पुनर्विचार के लिए भारत सरकार को ज्ञापन

  • अल्पसंख्यक कल्याण के लिए बजट राशि पर पुनर्विचार के लिए भारत सरकार को ज्ञापन

जयपुर । अल्पसंख्यक धार्मिक समुदायों के उत्थान एवं विकास हेतु भारत सरकार की विभिन्न योजनाओं के लिए प्रति वर्ष बजट में आवंटन किया जाता है इस हेतु जैन पत्रकार महासंघ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर जैन समाज के लिए बजट आवंटन बढ़ाने की मांग की है ।

जैन पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय महामंत्री उदयभान जैन जयपुर के अनुसार अल्पसंख्यक समुदायों में योजना बार बजट राशि का आवंटन प्रत्येक दशक में होने वाली जनगणना में सभी 6 समुदायों की जनसंख्या के अनुपात के आधार पर किया जाता है, जिससे पांच धार्मिक समुदाय यथा ईसाई, सिख ,बौद्ध ,पारसी, और जैनों को पर्याप्त लाभ नहीं मिल पाता है।

पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष रमेश जैन तिजारिया जयपुर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजेंद्र महावीर सनावद ,राष्ट्रीय महामंत्री उदयभान जैन जयपुर एवं भारतीय जैन संघटना अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के संयोजक निरंजन कुमार जैन अहमदाबाद ने प्रधानमंत्री भारत सरकार, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय भारत सरकार, अल्पसंख्यक राष्ट्रीय आयोग नई दिल्ली , धन्यकुमार गुंडे सदस्य अल्पसंख्यक राष्ट्रीय आयोग डॉ वीरेंद्र कुमार सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार नई दिल्ली को ज्ञापन भेजकर मांग की है कि अल्पसंख्यकों के प्रदान की जाने वाली राशि आवंटन में योग्य परिवर्तन किया जाए, किसी भी परिस्थिति में एक समुदाय की जनसंख्या वृद्धि के कारण अन्य समुदायों को नुकसान न हो यह व्यवस्था 2022-23 में प्रभावी की जाए।

इसके अलावा सभी अल्पसंख्यक समाज के प्रतिनिधियों को भी शासकीय अल्पसंख्यक कमिटी में शामिल करना चाहिए। अभी बाकी अल्पसंख्यक समाज के प्रतिनिधियों को देश से लेकर तालुका स्तरीय कमिटी में शामिल नहीं किया है। ये एक तरहसे नाइन्साफी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.