भारतीय नववर्ष शोभायात्रा के स्वागत में आसमान से होगी पुष्पवर्षा


-पूरे शहर में होगा मेले सा माहौल

उदयपुर, 30 मार्च। भारतीय नववर्ष समाजोत्सव समिति व नगर निगम उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में 2 अप्रेल को उदयपुर शहर में होने जा रही विशाल शोभायात्रा के स्वागत में आसमान से पुष्पवर्षा होगी। हैलीकॉप्टर के माध्यम से की जाने वाली यह पुष्पवर्षा शोभायात्रा मार्ग सहित सभास्थल पर भी की जाएगी। भारतीय नववर्ष चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के स्वागत के लिए इस बार पूरा शहर भगवा पताकाओं से सज रहा है। मठ-मंदिर-देवालय-स्थानक रंगीन रोशनी से सजाए जा रहे हैं। चौक-चौराहों-बाजारों में रंगोली के साथ घर-घर दीप प्रज्वलन और रंगोली अंकन की तैयारी भी चल रही है। इस बार का भारतीय नववर्ष पूरे शहर में उत्सव के रूप में मनाये जाने की तैयारी है, इसमें हर समाज की सहभागिता हो रही है और यह उत्सव समाजोत्सव का रूप ले रहा है।

समाजोत्सव समिति के संरक्षक हेमेन्द्र श्रीमाली, संयोजक विष्णु शंकर नागदा, नगर निगम उपमहापौर पारस सिंघवी, विश्व संवाद केन्द्र प्रभारी कमलप्रकाश रोहिला ने बुधवार को यहां विश्व संवाद केन्द्र सेक्टर-4 पर आयोजित पत्रकार वार्ता में इस विशाल शोभायात्रा की तैयारियों को लेकर विस्तृत जानकारी दी।

समिति संरक्षक हेमेन्द्र श्रीमाली ने भारतीय नववर्ष के महत्व को बताते हुए कहा कि नगर निगम प्रांगण टाउन हॉल से निकलने वाली शोभायात्रा सूरजपोल, बापू बाजार, देहलीगेट, अश्विनी बाजार, हाथीपोल, चेतक सर्कल होते हुए महाराणा भूपाल स्टेडियम के मुख्य द्वार से अंदर प्रवेश करेगी। शोभायात्रा मार्ग को फर्रियों और भगवा पताकाओं से सजाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। सिर्फ शोभायात्रा मार्ग ही नहीं, शहर के सभी प्रमुख चौक-चौराहे-बाजारों-मार्गों को भी फर्रियों व भगवा पताकाओं से सजाया जा रहा है ताकि हर जन तक नववर्ष आगमन का संदेश और शुभकामनाएं पहुंचें।

शोभायात्रा में सजे-धजे अश्व, बुलेट सवार, साइकिल सवार, 100 से अधिक स्कूलों-समाजों-स्वयंसेवी संस्थाओं की झांकियों के साथ हजारों मातृशक्ति कलश के साथ मंगलगान गाती चलेंगी। कलश के लिए मातृशक्ति को 21 हजार कूपन वितरित हो चुके हैं। शोभायात्रा मार्ग मंे जगह-जगह जलपान की व्यवस्था की गई है। नगर निगम प्रांगण और स्टेडियम में भी पेयजल की समुचित व्यवस्था की जा रही है। साथ ही नगर निगम की ओर से चल शौचालय व स्वच्छता कार्यकर्ता भी लगाए जा रहे हैं। शोभायात्रा मार्ग में जगह-जगह विभिन्न संस्थाओं की ओर से विभिन्न कलाओं का प्रदर्शन भी रखा गया है जो इस पूरे समाजोत्सव को एक मेले का स्वरूप देते नजर आएंगे। इनमें वनवासी बंधुओं का गवरी नाट्य, गेर नृत्य आदि शामिल होंगे।

उन्होंने बताया कि शोभायात्रा में शामिल हर बंधु-भगिनी के लिए महाप्रसाद के रूप में भोजन पैकेट की व्यवस्था की जा रही है जो सभा की समाप्ति के बाद वितरित किए जाएंगे। स्टेडियम के तीनों द्वारों पर यह वितरण होगा। इस विशाल आयोजन के तहत भट्टी पूजन, शोभायात्रा आरंभ स्थल व सभा स्थल का भूमि पूजन भी किया जा रहा है।

नगर निगम उपमहापौर पारस सिंघवी ने बताया कि नगर निगम सामाजिक सरोकारों में सदैव उपयोगी देती है। भारतीय नववर्ष हमारी पहचान है और उसे स्थापित करने के लिए नगर निगम नववर्ष समाजोत्सव समिति के साथ मिलकर कार्य कर रही है। शोभायात्रा में विशाल जनमैदिनी के शामिल होने के मद्देनजर महाराणा भूपाल स्टेडियम में व्यवस्थाएं की जा रही हैं। विशाल मंच के साथ चारों दिशाओं में चार एलईडी भी लगाई जाएंगी जिससे सभी को सुविधा रहे। नगर निगम की ओर से उदयपुर के सभी चौराहों पर लाइटिंग की जा रही है और बाजारों में रंगोली भी करवाई जाएगी। शोभायात्रा के साथ निगम की स्वच्छता टोली भी चलेगी जो स्वच्छता की कमान संभालेगी।

शोभायात्रा के बाद होने वाली सभा को दीदी मां साध्वी ऋतम्भरा का सान्निध्य प्राप्त होगा। मंच पर उदयपुर के भी संत-महंतों का आशीर्वाद प्राप्त होगा। दीदी मां को लेने के लिए उदयपुर से हैलीकॉप्टर उन्हें लिवाने इंदौर जाएगा जहां उसी दिन उनकी भागवत कथा का समापन हो रहा है। वहां से हैलीकॉप्टर उन्हें लेकर आएगा और वे उदयपुर में शोभायात्रा में शामिल होंगी। यही हैलीकॉप्टर शाम को शोभायात्रा पर पुष्पवर्षा करेगा।

शोभायात्रा आरंभ स्थल तथा स्टेडियम के पास पार्किंग व यातायात व्यवस्था को लेकर भी तैयारी की जा रही है। टाउन हॉल के समीप आरसीए, फतह स्कूल तथा निम्बार्क कॉलेज से पार्किंग के लिए जगह उपलब्ध कराने का आग्रह किया गया है। इसी तरह स्टेडियम के समीप भी पार्किंग की व्यवस्था यथोचित दूरी पर की जा रही है। स्टेडियम के आसपास के मार्गों पर यातायात को दूसरी दिशा में मोड़ा जाएगा। हालांकि, सभी से अपील की जा रही है कि उस दिन शोभायात्रा मार्ग व सभा स्थल से जुड़े मार्गों के बजाय वैकल्पिक मार्गों का उपयोग करें।

पार्किंग, यातायात व सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस व प्रशासन की ओर से भी पूर्ण सहयोग प्राप्त हो रहा है। विभिन्न संगठनों के युवा कार्यकर्ता शोभायात्रा व सभा स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था का ध्यान रखेंगे, साथ ही मार्ग में पुलिस विभाग भी मुस्तैद रहेगा।

विशाल शोभायात्रा से पहले शहर के अलग-अलग 11 स्थानों से कार्यकर्ता और मातृशक्ति रैली के रूप में विभिन्न मार्गों पर शहरवासियों को शुभकामनाएं देते हुए टाउन हॉल पहुंचते हुए मुख्य शोभायात्रा का हिस्सा बनेंगे।

शोभायात्रा में शामिल होने वाले सभी बंधु-भगिनियों से आग्रह किया गया है कि स्वच्छता का पूरा ध्यान रखें। पार्किंग सहित जो व्यवस्थाएं निर्धारित की गई हैं उनकी पालना करें। पॉलिथीन का उपयोग यथासंभव कम से कम किया जाए। विभिन्न व्यवस्थाओं में भी यह ध्यान रखा जा रहा है। जहां तक संभव हो रहा है पॉलिथीन का उपयोग नहीं किया जा रहा है। साथ ही, 2 अप्रेल को शोभायात्रा के मद्देनजर शोभायात्रा मार्ग पर 3 बजे बाद उत्सव का माहौल रहेगा और यातायात को डायवर्ट किया जाएगा। पुलिस विभाग इसमें सहयोग करेगा, लेकिन समिति की ओर से शहरवासियों से अपील की गई है कि उस दिन शोभायात्रा मार्ग के बजाय वैकल्पिक मार्गों का उपयोग करें।

समिति के संयोजक विष्णु शंकर नागदा ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उदयपुर के सभी समाज-संगठन इस आयोजन में सहभाग कर रहे हैं। कोई झांकी सजा रहे हैं तो कोई मंदिर सजा रहे हैं, विभिन्न व्यवस्थाओं में भी संगठनों का योगदान मिल रहा है। व्यवस्थाओं को अंतिम रूप देने के साथ समाजों के साथ निरंतर सम्पर्क अभियान जारी है।

समाजोत्सव प्रचार समिति के नरेश यादव ने बताया कि इस अवसर पर सभी पत्रकारों का उपरणा ओढ़ाकर स्वागत किया गया। प्रेसवार्ता में उपस्थित समाजोत्सव समिति के दिनेश भट्ट, श्रीमती अलका मूंदड़ा, श्रीमती अंजू सोनी, सुखलाल लोहार, उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा आदि का भी उपरणा ओढ़ाकर स्वागत किया गया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.