जन सहयोग से किया जाएगा व्यवस्थाओं में सुधार, शहर में सीसीटीवी कैमरे से होगी निगरानी


सह.सम्पादक अतुल जैन की रिपोर्ट


शिवपुरी।
जिला प्रशासन द्वारा शहर में व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए एक ओर पहल शुरू की गई है। अब जन सहयोग से शहर की व्यवस्था को सुधारा जाएगा जिसमें शहर के व्यवसाई जनप्रतिनिधि समाजसेवी आदि गणमान्य नागरिक भी अपनी भागीदारी करेंगे। गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष आयोजित बैठक में इसी विषय पर चर्चा की गई।
कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने बैठक में उपस्थित शहर के नागरिकों से कहा कि अभी पूरे शहर की निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे और ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार के लिए भी काम किया जा रहा है इसके लिए जन सहयोग की भी आवश्यकता है इसलिए सभी इसमें अपनी भागीदारी कर सकते हैं। पुलिस वेलफेयर खाता क्रमांक 53037059459 और आईएफएससी कोड SBIN0030086 में राशि दे सकते हैं।
कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने बैठक में उपस्थित शहर के नागरिकों से कहा कि शहर की स्वच्छता के प्रति भी हम सभी का कर्तव्य है बाजार में जो दुकान हैं वह दुकानदार भी ध्यान रखें कचरा गाड़ी में ही कचरा डालें क्योंकि कचरा बाहर डालने से गंदगी फैलती है अभी नगरपालिका द्वारा अभियान चलाकर कार्यवाही की जा रही है दुकानदारों को और ठेले वालों को कूड़ेदान भी दिए जा रहे हैं। सभी उन्हीं में कचरा डाला अब प्रशासन द्वारा सख्ती से कार्यवाही की जाएगी और गंदगी फैलाने वालों पर चालानी कार्यवाही होगी।
उन्होंने कहा कि यदि शहर स्वच्छ होगा अच्छा वातावरण होगा तो इससे शिवपुरी के पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। बैठक में शहर के व्यापारी समाजसेवी, कोचिंग संचालक, जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे। बैठक में सभी से सुझाव भी मांगे गए कि किस प्रकार शहर की व्यवस्था को ठीक किया जा सकता है।
कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने नगर पालिका शिवपुरी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी शैलेश अवस्थी को निर्देश देते हुए कहा है कि नगरपालिका ने अभी व्हाट्सएप नंबर 8989687599 जारी किया है। इस नंबर पर टीम द्वारा रिस्पॉन्ड किया जाए। शहरवासियों द्वारा जो समस्या बताई जाती है उसका निराकरण किया जाए सभी वार्ड में लोगों को चिन्हित करें और स्वच्छता अभियान से जोड़ा इसके अलावा सफाई दरोगा का नंबर ही जगह-जगह प्रचारित किया जाए। स्वच्छता अभियान के तहत जो स्वच्छता एंबेसडर बनाए गए हैं, उनके पास ही सफाई दरोगा का नंबर होना चाहिए।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.