महिलाओं ने शुरू किया मसाला उद्योग, समूह से जुड़कर बनी आत्मनिर्भर


सह.सम्पादक अतुल जैन की रिपोर्ट


शिवपुरी। 
आजीविका मिशन के तहत संचालित स्व सहायता समूह से जुड़कर महिलाएं छोटे-छोटे काम धंधे शुरू करके आर्थिक लाभ कमा रही हैं। शिवपुरी जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाएं कई आर्थिक गतिविधियां संचालित कर रही हैं। बदरवास के गांव मोहराई में शेरावाली उत्पादक समूह की महिलाओं द्वारा लगभग 6 महीने पहले मसाला उद्योग शुरू किया गया है। कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने कोलारस व बदरवास भ्रमण के दौरान समूह द्वारा संचालित गतिविधियों का जायजा लिया और महिलाओं से उनके द्वारा संचालित गतिविधियों की जानकारी ली कि किस प्रकार समूह द्वारा मसाला तैयार कर पैकिंग कर आसपास के गांव और शिवपुरी शहर में उपलब्ध कराया जा रहा है।
 स्व सहायता समूह से श्रीमती धनको बाई और सखीबाई जाटव ने बताया कि वह वर्ष 2012 से समूह से जुड़ी है और अभी लगभग 6 महीने पहले उन्होंने मसाला उद्योग शुरू किया है। वह मिर्च और धनिया खरीदते हैं।
उन्हें सुखाकर तैयार करती हैं। फिर उन्हें साफ कर लिया जाता है। इसके बाद मशीन से मसाला तैयार किया जाता है। फिर इस मसाले की पैकिंग कर बेचा जा रहा है। इससे वह मुनाफा भी कमा रही है। उन्होंने बताया कि समूह में 15 महिलाएं इस मसाला उद्योग से जुड़ी हैं। एक वर्ष में उन्होंने लगभग 50 किलो मसाला तैयार कर बेचा है।
समूह की महिलाओं ने कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को अपने आत्मनिर्भर बनने की कहानी बताई और कहा कि समूह से जुड़कर आज हम आर्थिक गतिविधियां संचालित कर रहे हैं। जिससे हम अपने परिवार की आय में सहयोग दे रहे हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.