“विदुषी प्रवर सुमित्रा महाजन “ताई””


विदुषी प्रवर सुमित्रा महाजन “ताई”
12 अप्रैल को जन्मी एक विदुषी महिला।
जिनकी लोकप्रियता ने तय किया ऊंचाइयों का सिलसिला॥
माता ऊषा और पिता पुरुषोत्तम हुए ताई के जन्म से गौरवान्वित।
ताई के अद्वितीय प्रयास तो करते नारी शक्ति को सम्मानित॥
सुमित्रा ताई और दीदी के नाम से जो है विख्यात।
ताई तो बनी अनेकों बार प्रसिद्ध सांसद प्रख्यात॥
भारतीय संसद के वरिष्ठ सम्माननीय सदस्यों में है जिनका नाम।
जनमानस के हित में जो करती रही अनवरत काम॥
द्वितीय महिला जो हुई लोकसभा अध्यक्षपद पर आसीन।
अपनी निरंतर मेहनत से किया सब कुछ मुमकिन॥
युवापीढ़ी के लिए प्रेरणा की है सशक्त मिसाल।
उनकी अविराम सक्रियता ने किया अनोखा कमाल॥
सादगीपूर्ण जीवन और सरलता की प्रतिमूर्ति है ताई।
जिनकी अनमोल शख्सियत जनमानस के हृदय को भाई॥
उत्कृष्ट कार्यक्षमता के बल पर भरी सफलता की ऊँची उड़ान।
कुशल व्यवहार ने दी उन्हें लोकप्रियता की नई पहचान॥
अपनी अद्वितीय छवि से जानी जाती है ताई।
जिसने आजीवन जनमानस के स्नेह की पूँजी कमाई॥
सहृदय स्वभाव के कारण रही सदैव प्रशंसनीय।
श्रेष्ठ परामर्शदात्री, भारतीय राजनेत्री का कार्य है अनुकरणीय।।
साहित्य, कविता, नाटक भी ताई को लगते है रुचिकर।
पद्मभूषण सम्मानित देती प्रेरणा की नारी चढ़ सकती उन्नति का शिखर॥
12 अप्रैल जन्मदिवस पर डॉ. रीना यही करती मंगल कामना।
ताई दीर्घायु होकर करे उत्तम स्वास्थ्य, समृद्धि और सफलता की साधना॥    
डॉ. रीना रवि मालपानी (कवयित्री एवं लेखिका)

प्रेषक:
डॉ. रीना रवि मालपानी



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.