आंध्र प्रदेश में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना मंत्री के जुलुस के कारण सात महीने की बच्ची की अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत


आंध्र प्रदेश /अनंतपुर/तिरुपति/

पुलिस ने मंत्री के काफिले के लिए यातायात को प्रतिबंध करने के कारण 7 महीने के बच्चे की मौत | महिला एवं बाल कल्याण मंत्री उषा श्री चरण के विजय जुलूस के लिए पुलिस द्वारा सड़क जाम किए जाने के कारण आंध्र प्रदेश में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में सात महीने की बच्ची की अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई। इस दौरान बच्चे के परिजन ने मंत्री के खिलाफ विरोध जताया और कार्रवाई की मांग की. नवनियुक्त मंत्री कल्याणदुर्ग के विधायक हैं। मंत्री बनने के बाद वह पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र का दौरा करने आई थी । शुक्रवार शाम लगभग 6.30 बजे, बच्चे के माता-पिता – गणेश और ईश्वरम्मा – ने बच्चे को दौरे से पीड़ित होने के बाद एम्बुलेंस के लिए बुलाया। माता-पिता के अनुसार, उषा चरण के समर्थकों के नेतृत्व में एक जुलूस निकाला गया जिस के कारण एम्बुलेंस नहीं आई थी, जुलूस के कारण वाहनों का आवागमन पूरी तरह से ठप हो गया था। दंपति ने बाद में एक ऑटोरिक्शा में बच्चे को अस्पताल ले जाने की कोशिश की, लेकिन प्रतिबंधों को देखते हुए पुलिस ने उन्हें कथित तौर पर रोक दिया। आखिरकार, दंपति अपने दोपहिया वाहन पर शिशु को कल्याणदुर्ग के ग्रामीण विकास ट्रस्ट अस्पताल ले गए।हालांकि अस्पताल लाए जाने के कुछ देर बाद ही नवजात को मृत घोषित कर दिया गया। मेडिकल केस शीट के मुताबिक शाम 7.18 बजे बच्चे की मौत हो गई।जिस इलाके में यह घटना हुई उस इलाके के एसपी ने हालांकि इस बात को मानने से इनकार किया है कि बच्चे की मौत काफिले जुलूस की वजह से हुई.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.