साम्प्रदायिक राजनीति का बदलता स्वरूप और हमारी भूमिका विषय पर परिचर्चा आज


भोपाल। लोकतांत्रिक अधिकार मंच (DRF) ने कल 7 मई 2022 को शाम 6:00 बज़े से भोपाल के जयप्रभा कक्ष, गांधी भवन में ‘साम्प्रदायिक राजनीति का बदलता स्वरूप और हमारी भूमिका’ विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया है। परिचर्चा के मुख्य वक्ता जाने माने लेखक, पीस एक्टिविस्ट और विश्लेषक इरफ़ान इंजीनियर होंगे।
हालही रामनवमी व हनुमान जयंती के उन्मादी जुलूस के बाद, देश के कई राज्यों में एक साथ साम्प्रदायिक हिंसा हुई जिसके बाद कार्यवाही करते हुए सैकड़ों घरों, दुकानों और रोजगार को तबाह कर दिया। इस अमानवीय राज्य प्रायोजित हिंसा को बुलडोजर राज का नाम देकर अपनी पीठ थपथपाई गयी। कुछ मामलों को छोड़कर दोषियों पर कार्यवाही के नाम मुख्यतः मुस्लिम अल्पसंख्यकों को ही  निशाना बनाया गया है। इस प्रकार की संगठित और निर्देशित घटनाओं ने देश को झकझोर दिया दिया है। 
धर्म आधारित ‘हम और वे’ की साम्प्रदायिक राजनीति ने लोगों के जहन में इस कदर नफ़रत का जहर भर दिया है कि मुस्लिम दुकानदारों और व्यापारियों का खुलेआम बहिष्कार करने, हिन्‍दू मंदिरों और धार्मिक मेलों के आसपास उनकी दुकानें ना लगाने देने का खुलेआम आह्वान किया जा रहा है। ऐसे मैसेज सोशल मीडिया में खूब वायरल हुए है, कई जगह तो बाकायदा बोर्ड तक लगा दिया गया था। 
अभूतपूर्व स्तर पर पहुँच चुकी महँगाई और बेरोजगारी, बढ़ता शिक्षा और स्वास्थ्य का खर्च, दलितों – आदिवासियों व महिलाओं के ऊपर बढ़ रही हिंसा और तीव्र होते जातिगत उत्पीड़न के ख़िलाफ़ लड़ने के बजाय, अजान- हनुमान चालीसा, समान नागरिक संहिता और मंदिर- मस्जिद जैसे विवादित और साम्प्रदायिक मुद्दों को हवा दी जा रही है जिसे राज्य का प्रश्रय हासिल है। 
यह सब अभूतपूर्व और चिन्ताजनक है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि संविधान का राज ना होकर मनुवादी हिंदुत्वा का राज क़ायम हो गया है जो शुद्ध रूप से फ़ासीवाद है। लगभग लोकतंत्र, संविधान, धर्मनिर्पेक्षता और मानवीय मूल्यों का गला घोंट दिया गया है। शोषित – पीड़ित वर्गों द्वारा अपने उत्पीड़न के खिलाफ आवाज़ उठाने पर उन्हें जेल में डाला जा रहा है। इन हालातों को विस्तार से समझने और अपनी भूमिका तलाशने के उद्देश्य से 7 मई 2022 को शाम 6:00 बज़े से भोपाल के जयप्रभा कक्ष, गांधी भवन में परिचर्चा का आयोजन किया गया है। परिचर्चा के मुख्य वक्ता जाने माने लेखक, पीस एक्टिविस्ट और विश्लेषक इरफ़ान इंजीनियर होंगे। आप सादर आमंत्रित है।

सच्चा दोस्त न्यूज़ को आप हिंदी के अतिरिक्त अब इंग्लिश, तेलुगु, मराठी, बांग्ला, गुजरती एवं पंजाबी भाषाओँ में भी खबर पढ़ सकते है अन्य भाषाओँ में खबर पढ़ने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Sachcha Dost News https://sachchadost.in/english सच्चा दोस्त बातम्या https://sachchadost.in/marathi/ సచ్చా దోస్త్ వార్తలు https://sachchadost.in/telugu/ સચ્ચા દોસ્ત સમાચાર https://sachchadost.in/gujarati/ সাচ্চা দোস্ত নিউজ https://sachchadost.in/bangla/ ਸੱਚਾ ਦੋਸਤ ਨ੍ਯੂਸ https://sachchadost.in/punjabi/



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.