दिल्ली विधानसभा में ही रात काटेंगे आप के सभी विधायक, उपराज्यपाल का करेंगे विरोध

दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार ने एलान किया है कि उनकी पार्टी के सभी विधायक आज रात विधानसभा में ही रुकेंगे और उपराज्यपाल का विरोध करेंगे. आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि आज रात सभी आप विधायक (्र्रक्क रूरु्र) सदन में ही रहेंगे. आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के उपराज्यपाल विनय सक्सेना (ङ्क्य स्ड्ड&द्गठ्ठड्ड) पर नोटबन्दी के दौरान 1400 करोड़ के घोटाले का आरोप लगाया है. सौरभ भारद्वाज ने कहा कि शाम को महात्मा गांधी प्रतिमा के नीचे सभी विधायक बैठेंगे और रातभर विधानसभा में ही रुककर उपराज्यपाल का विरोध करेंगे.

दिल्ली विधानसभा में सोमवार को आम आदमी पार्टी के विधायक दुर्गेश पाठक ने आरोप लगाते हुए कहा था कि उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने खादी ग्रामोद्योग के अध्यक्ष रहते हुए 1400 करोड़ रुपये का घोटाला किया है. पार्टी ने अपने आरोपों में कहा कि खादी ग्रामोद्योग का अध्यक्ष रहते हुए विनय कुमार सक्सेना ने नोटबंदी के समय नवंबर 2016 में पुराने नोट को नए में बदल कर घोटाला किया. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नाम पर 1400 करोड़ का घोटाला किया गया.

उपराज्यपाल पर लगाए घोटाले के आरोप

दुर्गेश पाठक ने कहा कि नोटबंदी के दौरान जब लाखों लोगों के व्यापार तबाह हो गए और लोगों की नौकरियां चली गईं तब उपराज्यपाल 1400 करोड़ का घोटाला करने में व्यस्त थे. एलजी विनय सक्सेना का घोटाला उजागर करने वाले बहुत गरीब थे, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी.? हर फोरम में शिकायत की और कहा कि हमसे गलत काम कराया जा रहा है. इसके बावजूद जांच की अध्यक्षता खुद आरोपी ने की. दोनों शिकायतकर्ताओं को सस्पेंड कर दिया गया और अपने भ्रष्ट साथियों का प्रमोशन कर दिया.

एलजी को पद से हटाने की मांग की

दुर्गेश पाठक ने मांग की है कि दिल्ली के उपराज्यपाल के खिलाफ ईडी की रेड होनी चाहिए. ये मनी लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार का मामला है. उपराज्यपाल के खिलाफ जब तक जांच चले तब तक इन्हें एलजी के पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है. इन्हें उपराज्यपाल के पद से हटाया जाए. इस मामले को लेकर एलजी विनय कुमार सक्सेना के खिलाफ दिल्ली विधानसभा में आप विधायकों ने जमकर विरोध प्रदर्शन भी किया. इन आरोपों पर आप विधायकों ने उन दो कैशियर के बयान भी जारी किए जिन्होंने खादी ग्रामोद्योग से जुड़े इस मामले को उजागर किया गया.

दो कैशियर के बयान भी किए जारी

खादी ग्रामोद्योग के बिक्री केंद्र के हेड कैशियर संजीव कुमार ने कहा कि मैंने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट भवन प्रबंधक के कहने पर स्वीकार किए. उन्होंने कहा कि चेयरमैन का आदेश था कि अगर बैंक नोट ले रहा है तो जमा कराएं. मैंने प्रबंधक महोदय को मना किया तो प्रबंधक ने कहा कि ऊपर से चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना का दबाव है. अगर नहीं किया तो चेयरमैन नाराज हो जाएंगे. इस बात पर मैं काफी डर गया. क्योंकि नोटबंदी से 5 दिन पहले ही चेयरमैन ने भवन के 2 स्टाफ का ट्रांसफर गोवा और जयपुर कर दिया था. अत: मजबूरी में मैंने यह काम किया. जिसकी जानकारी भवन के अधिकतर स्टाफ को पहले से थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.