मंत्री, महापौर और विधायक ने की शुरुआत, अब 21 रूट पर हुई 313 बसें

भोपाल में 3 नए रूट पर दौडऩे लगी 40 सीएनजी सिटी बसें


  • भोपाल । राजधानी भोपाल की सड़कों पर शुक्रवार से 40 नई सीएनजी बसें दौडऩे लगी हैं। ये बसें 3 नए और 2 पुराने रूट पर चलाई गई। इसके बाद शहर में 21 रूट पर कुल 313 बसें हो गई है। नई सीएनजी बसें पहली बार सूखी सेवनिया भी गई। इससे यात्रियों को आने-जाने में आसानी हुई। शुक्रवार को चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, महापौर मालती राय, विधायक रामेश्वर शर्मा, नगर निगम अध्यक्ष किशन सूर्यवंशी ने बसों का हरी झंडी दिखाई। एमआईसी मेंबर मनोज राठौर, रविंद्र यति समेत क्षेत्र के पार्षद मौजूद थे। अमृत योजना अंतर्गत भोपाल शहर के रहवासियों की सुविधा एवं पर्यावरण अनुकूलता के चलते 300 नई सीएनजी बसें मंजूर की गई है। पहले चरण में 40 बसें आ गई है। जिनका संचालन शुक्रवार से शुरू हो गया। भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड इनका संचालन कर रहा है।
    बसों के संचालन की शुरुआत करते हुए विश्वास सारंग ने कहा कि इन बसों के स्टाप से कालोनियों को जोडऩा जरुरी है। इसके लिए आटो रिक्शा और मैजिक के रूट से इन्हें जोडऩा चाहिए, जिससे रहवासियों के लिए आवागमन आसान हो सके। वहीं महापौर मालती राय ने कहा कि नई बसों के संचालन से शहर के लोगों को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे। इसलिए बस चालक और कंडक्टर यात्रियों से अच्छा व्यवहार करें। अतिथि देवता के समान होता है। यात्री बसों में यात्रा करेंगे, तभी कमाई होगी। इसलिए यात्रियों की सुविधा सर्वोपरि है। गौरतलब है कि अमृत योजना के तहत शहर के रहवासियों की सुविधा और पर्यावरण संरक्षण के मद्देनजर 300 सीएनजी बसों का संचालन किया जाना है। इन बसों की खरीदी व संचालन के लिए पीपीपी यानी पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड ने हैदराबाद की इन्क्यूबेट साफ्टेक कंपनी के साथ करार किया गया है। इनमें सात सीएनजी बसों की आपूर्ति संबंधित कंपनी पहले कर चुकी है, जबकि 40 बसों की आपूर्ति वर्तमान में की गई है। बची हुई 253 बसों की आपूर्ति कंपनी द्वारा दिसंबर 2022 तक कर दिया जाएगा।
    महापौर ने की बसों की पूजा, ड्राइवर को तिलक लगाया
    बसों की शुरुआत से पहले महापौर राय ने पूजा की। वहीं, ड्राइवर को तिलक भी लगाया। इसके बाद मंत्री, महापौर, विधायक समेत अन्य ने बसों में सवारी भी की।
    एक दिन में सवा लाख यात्री करते हैं सफर
    भोपाल में सिटी बसों में एक दिन में करीब सवा लाख यात्री सफर करते हैं। किराए के रूप में उन्हें न्यूनतम 7 और अधिकतम 42 रुपए लगते हैं। सभी बसों में जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम और कैमरे लगे हैं।
    अब तक 18 रूट पर 273 बसें
    अब तक भोपाल के 18 रूट पर अभी कुल 273 बसें चलती हैं। ये बसें शहर के सभी एरियों को कवर करती हैं। बैरागढ़ के पास चिरायु हॉस्पिटल से लेकर अवधपुरी, न्यू मार्केट, अयोध्या बायपास, करोंद, एमपी नगर, मिसरोद, मंडीदीप, होशंगाबाद रोड, कटारा हिल्स, बैरागढ़ चिचली, कोलार रोड, गांधीनगर, बंगरसिया, रायसेन रोड, लांबाखेड़ा, नारियलखेड़ा, भौंरी समेत अधिकांश शहरी इलाकों में चलती है। शुक्रवार से 40 नई सीएनजी बसें और जुड़ जाएंगी
    एप से टिकट लेने पर मिलेगा कैशबैक
    इन बसों में मोबाइल एप के माध्यम से बसों के आवागमन से संबंधित जानकारी और लाइव लोकेशन पता की जा सकेगी। इसके साथ ही एप के माध्यम से टिकट लेने, मोबाइल पास और मासिक स्मार्ट पास बनवाने में कैशलेस की सुविधा यात्रियों को मिलेगी। वहीं इनमें सीसीटीवी कैमरे और लाइव ट्रैकिंक हेतु जीपीएस सिस्टम के साथ ईटीवीएम मशीन के माध्यम से स्मार्ट टिकटिंग की सुविधा होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.