आयुष मलेरिया अभियान अंतर्गत मलेरिया हाई रिस्क गांवो में होम्योपैथिक औषधि की दूसरी खुराक का वितरण किया


धार – कलेक्टर डॉ पंकज जैन के निर्देशन में आयुष मलेरिया अभियान अंतर्गत मलेरिया हाई रिस्क गांवो के अन्दर मलेरिया ऑफ 200 होम्योपैथिक औषधि की दूसरी खुराक का वितरण किया जा रहा है। इसी कड़ी में जिला आयुष अधिकारी डॉ रमेश चंद्र मुवेल ने धार जिले के ब्लॉक सरदारपुर, कुक्षी, तीसगांव, तिरला, बाकानेर, धामनोद, नालछा, बदनावर, ब्लॉक तिरला के ग्राम छत्रीपुरा, खिड़कीयपुरा निरीक्षण किया तथा औषधि का वितरण कर ग्रामीणो एवं आमजन को होम्योपैथिक औषधि मलेरिया ऑफ 200 के सेवन के तरीके के बारे मे विस्तार से बताया। इस अवसर पर डॉ नरेंद्र नागर नोडल अधिकारी भी साथ थे। उन्होंने बताया कि होम्योपैथिक औषधि का सेवन करते समय मुख को साफ रखे, होम्योपैथिक दवाई खाने के पहले एवं बाद में कोई भी चीज न खायें, 15 मिनिट का अंतर रखे के बारे में समझाईश दी गई। साथ ही बताया कि दवाई को बच्चों की पहुॅच से दूर रखें, दवाई मीठी होने के कारण बच्चों के द्वारा पूरी दवाई की फाइल्स खा ली जाती है। दवाई खुशबूदार चीजो से दूर रखें। दवाई को फाइल्स के ढक्कन, या चम्मच में लेकर सेवन करें। दवाई का सेवन होम्योपैथिक चिकित्सक की सलाह से करने, मलेरिया के लक्षण बुखार आना सिर दर्द होना, उल्टी होना, ठंडलगना, चक्कर आना, थकान लगना, बचाव के उपाय बताये गए। इसी प्रकार स्वच्छता का ध्यान रखने, घर के कूलर, पुराने पड़े टायर आदि में पानी जमा न होने देने, सोते बक्त मच्छरदानी का उपयोग करने, पानी के गड्ढे में करोसिन, या टिनोफोर्स डालने, नीम का धुआं करने, फूल बाहों के कपड़े पहने, बुखार आने पर निकटतम स्वास्थ केन्द्र पर जाकर स्वास्थ परीक्षण करवाने की सलाह दी गई। तीसरी खुराक 22 सितम्बर को खिलाई जायेगी। इस अवसर पर आशा कार्यकर्ता, आँगनवाड़ी कार्यकर्ता, आँगनवाड़ी साहयीका उपस्थिति थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.