किसान पुत्र

क्या IPL के कारण दोस्त भी बन जाते हैं दुश्मन? एंड्रयू सायमंड्स ने किया चौंकाने वाला खुलासा


नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ऑलराउंडर एंड्रयू सामंड्स ने पूर्व दोस्त और साथी खिलाड़ी माइकल क्लार्क से खराब हुए अपने रिश्ते को लेकर बड़ा और चौंकाने वाला खुलासा किया है. सायमंड्स का मानना है कि आईपीएल में उन्हें जो मोटा पैसा मिला था, वो क्लार्क को हजम नहीं हुआ और उनकी दोस्ती में आई दरार कि यह एक बड़ी वजह हो सकती है. बता दें कि आईपीएल के पहले सीजन यानी 2008 की नीलामी में सायमंड्स महेंद्र सिंह धोनी के बाद दूसरे सबसे महंगे क्रिकेटर थे. उन्हें डेक्कन चार्जर्स ने 6 करोड़ रुपये में खरीदा था.

सायमंड्स और क्लार्क ने 2004 में ऑस्ट्रेलिया के लिए डेब्यू किया था और सालों एकसाथ खेलते-खेलते दोनों के बीच की दोस्ती गहरी होती चली गई. लेकिन 2008 में इनकी दोस्ती में दरार आने लगी और धीरे-धीरे सब खत्म हो गया. सायमंड्स ने कहा कि हम एकसाथ खेलते-खेलते दोस्त बन गए थे. जब क्लार्क टीम में आए तो मैं उनके साथ बल्लेबाजी करता था और टीम में उनका ध्यान भी रखता था. इसी वजह से हमारे बीच एक बॉन्ड सा बन गया था.

मेरी आईपीएल सैलरी से कई खिलाड़ी खुश नहीं थे: सायमंड्स
सायमंड्स ने ब्रेट ली पॉडकास्ट पर कहा, “मैथ्यू हेडन ने तब मुझसे कहा था-  मुझे लीग में खेलने के लिए काफी पैसा मिला. उससे ऑस्ट्रलिया के कई खिलाड़ी उनसे जलने लगे हैं और शायद यही वो वक्त था, जब क्लार्क और मेरी दोस्ती में कड़वाहट आनी शुरू हुई.”

‘पैसों ने मेरी और क्लार्क की दोस्ती में ज़हर घोला’
इस पूर्व ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर ने आगे कहा, “पैसा कई मजेदार चीजें कर सकता है. यह अच्छा भी होता है. लेकिन कई बार यह ज़हर का काम भी करता है और मेरा मानना है कि मेरी और क्लार्क की दोस्ती में पैसों ने जहर घोलने का काम किया. लेकिन मैं आज भी क्लार्क की काफी इज्जत करता हूं, तो इस बारे में और ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहूंगा कि तब हमारे बीच क्या हुआ था और किसने क्या कहा था? उसके साथ मेरी दोस्ती अब नहीं रही और मैं इससे सहज हूं, लेकिन मैं यहां बैठकर कीचड़ उछालने वाला नहीं हूं.”

कैसे सायमंड्स-क्लार्क की दोस्ती का हुआ ‘दि एंड
क्लार्क और सायमंड्स दोनों बिल्कुल अलग किरदार थे. जहां सायमंड्स शिकार और मछली पकड़ने का शौक रखते थे. वहीं, क्लार्क टेंड्र सेटर थे. वो तब लारा बिंगल नाम की मॉडल को डेट रहे थे. हालांकि, दोनों को रग्बी भी काफी पसंद था. इसी के जरिए दोनों की बीच दोस्ती पनपी और फिर गहरी होती चली गई. लेकिन 2008 में यह दोस्ती उस वक्त टूट गई, जब सायमंड्स को डार्विन में एक टेस्ट मैच से सीधे घर भेज दिया गया, क्योंकि वो टीम मीटिंग के बजाए मछली पकड़ने चले गए थे. तब ऑस्ट्रेलिया के कप्तान माइकल क्लार्क ही थे और सायमंड्स को लगा कि उन्हें घर भेजने का फैसला क्लार्क का ही था.

‘विराट-डुप्लेसी को आउट करने से कीमती है अनुज रावत का विकेट’, जानिए 7 मैच खेलने वाले गेंदबाज ने क्यों कहा ऐसा

Sachin Tendulkar Birthday: 24 साल पहले सचिन तेंदुलकर ने मनाया था तूफानी बर्थडे, वॉर्न की रातों की नींद हो गई थी हराम

जब सायमंड्स ने क्लार्क पर ड्रिंक फेंक दिया
सायमंड्स ने बताया कि यह रिश्ता तब और खराब हो गया, जब वेस्टइंडीज दौरे पर मैंने गुस्से में क्लार्क पर ड्रिंक फेंक दिया. उन्होंने कुछ ऐसी बात मुझे कह दी थी, जिस पर मैं आपा खो बैठा और मैंने ऐसा कर दिया और इसी पल हमारी दोस्ती पूरी तरह खत्म हो गई. इसके बाद भी दोनों ने कई मौकों पर एक-दूसरे के खिलाफ बयानबाजी की, जिससे दोबारा रिश्ता बेहतर होने की तमाम गुंजाइश खत्म हो गई.

Tags: Andrew Symonds, Australia, IPL 2022, Michael Clarke



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: