किसान पुत्र

‘मेरी चमड़ी ड्यूक बॉल के चमड़े से ज्यादा मोटी थी’, जानिए रवि शास्त्री ने ऐसा क्यों कहा


मुंबई. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री का कार्यकाल मुश्किलों भरा रहा. शुरुआती समय में उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ा.  वह जब टीम इंडिया के मुख्य कोच बने तो भारतीय टीम इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज हार गई थी. क्रिकेटर से कॉमेंटेटर बने मुख्य कोच रवि शास्त्री के लिए यह मुश्किल दौर था. दो सीरीज में मिली हार के बाद उनकी काफी आलोचना हुई. एक इंटरव्यू के दौरान पूर्व हेड कोच ने खुलासा किया है कि घर आने के बाद लोगों ने उन्हें कैसे निशाना बनाया. लेकिन रवि शास्त्री का कहना है कि उन्होंने कभी इसकी परवाह नहीं की.

रवि शास्त्री का शुमार भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कोच के रूप में किया जाता है. उनके कार्यकाल के दौरान भारत ने ऑस्ट्रेलिया को दो बार उसकी सरजमीं पर हराकर टेस्ट सीरीज जीती. बीते साल इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई कोरोना प्रभावित टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया बढ़त लेने में सफल रही. इतना ही नहीं साल 2019 में इंग्लैंड में खेले गए क्रिकेट विश्व कप में भारत सेमीफाइनल में पहुंचा था.

मेरी चमड़ी ड्यूक बॉल से मोटी

द गॉर्जियन से बात करते हुए रवि शास्त्री ने कहा, ‘ मैंने कोचिंग के लिए लेवल 1 और लेवल 2 जैसे बैज नहीं बनाए. यह सब भाड़ में जाए. भारत में ईर्ष्या करने वाले लोगों का गिरोह है. जो आपको असफल होते हुए देखना चाहता है. मेरी चमड़ी ड्यूक बॉल के चमड़े से ज्यादा मोटी थी. यहां आपको कुछ छिपाने की जरूरत होती है.’

शास्त्री साल 2017 से लेकर 2022 टी-20 विश्व कप तक भारतीय टीम के मुख्य कोच रहे थे. उन्होंने इंग्लैंड के नए कोच रॉब की के बारे में बात करते हुए कहा, ‘रॉब इसे विकसित करेंगे. वह काम करते हैं. क्योंकि हर दिन आपको आंका जाता है. मुझे इस बात की खुशी है कि उनके पास केंट की कप्तानी करने का अनुभव है. रवि शास्ती के मुताबिक, खिलाड़ियों के साथ संवाद सर्वोपरि है.

यह भी पढ़ें

IPL 2022: क्‍या शिखर धवन के भाई हैं ऋषि धवन? जानिए क्‍या हैं दोनों के बीच रिश्‍ता

क्‍या IPL 2022 से बाहर हो गई है CSK? 8 में से गंवा चुकी है 6 मैच

एंडरसन को मिलना चाहिए मौका

साक्षात्कार के दौरान जब उनसे यह पूछा गया कि क्या जेम्स एंडरसन को इंग्लैंड की टेस्ट टीम में मौका मिलना चाहिए. इस सवाल के जवाब में शास्त्री ने कहा, ‘ यदि उनकी फॉर्म अच्छी है तो उन्हें मौका देना चाहिए. क्योंकि अनुभव का कोई विकल्प नहीं होता है. टेस्ट क्रिकेट ही सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट है. यदि एंडरसन फिट हैं. उनके पास विकेट लेने की भूख है तो आपको उस दिशा के बारे में सोचना चाहिए.’

Tags: Indian Cricket Team, Ravi shastri



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: