किसान पुत्र

अगर आप भी इस्तेमाल करते हैं चारकोल टूथपेस्ट तो जान लें ये बातें


चारकोल प्रोडक्ट्स आजकल काफी ट्रेंड में हैं. स्किन केयर से लेकर हेल्थ केयर तक चारकोल प्रोडक्ट्स (Charcoal Products) के अलग-अलग ब्रांड मार्केट में आसानी से उपलब्ध रहते हैं. कई लोग फेस को ग्लोइंग बनाने के लिए चारकोल फेस मास्क, चारकोल क्रीम और चारकोल फेस वॉश का इस्तेमाल करते हैं. वहीं चारकोल टूथपेस्ट इस्तेमाल करने का ट्रेंड भी काफी बढ़ गया है. जिसके चलते लोगों ने बड़े पैमाने पर इसे यूज करना शुरू कर दिया है. मगर, क्या आप चारकोल टूथपेस्ट से रिलेटेड इन जरूरी बातों को जानते हैं?

बता दें कि अमूमन चारकोल टूथपेस्ट में एक्टिवेटेड चारकोल का इस्तेमाल किया जाता है. जो कि लकड़ी और नारियल के छिलके की मदद से नेचुरली बनाया जाता है. लेकिन चारकोल टूथपेस्ट दांतों के लिए किस तरह से फायदेमंद है और इसके क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं इस बारे में भी जानना बेहद जरूरी है. तो आइये जानते हैं चारकोल टूथपेस्ट के बारे में ये बातें.

दांतों को साफ करता है चारकोल टूथपेस्ट
वैसे तो चारकोल टूथपेस्ट में मौजूद एक्टिवेटेड चारकोल दांतों के इनेमल यानी बाहरी परत को बखूबी साफ कर सकता है. हालांकि चारकोल टूथपेस्ट द्वारा दांतों के नीचे की सतह को साफ करने के बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है.

ये भी पढ़ें: इन 5 चीजों पर लगे दागों को मिनटों में हटा देगा टूथपेस्ट

चारकोल टूथपेस्ट के फायदे
चारकोल टूथपेस्ट इस्तेमाल करने के फायदे ये हैं कि चारकोल टूथपेस्ट दांतों की ऊपरी परत को साफ करने और कुछ हद तक मुंह की बदबू से भी छुटकारा दिलाने में कारगर होता है.

चारकोल टूथपेस्ट के साइड इफेक्ट्स
चारकोल टूथपेस्ट इनेमल को साफ रखने के अलावा इसे नुकसान भी पहुंचा सकता है. जिससे आपके दांत पीले हो सकते हैं. वहीं चारकोल टूथपेस्ट में कैविटी से लड़ने वाले फ्लोराइड नामक तत्व का इस्तेमाल नहीं किया जाता है. जिससे आपके दांतों में कैविटी होने की आशंका भी बनी रहती है.

ये भी पढ़ें: Oral Health Care Tips: ये चीजें दांतों को बनाती हैं चमकदार और मजबूत

सफेद दांतों के लिए चारकोल टूथपेस्ट
चाय, कॉफी और रेड वाइन जैसे कुछ कॉमन ड्रिंक्स दांतों पर अपने निशान छोड़ जाते हैं. ऐसे में नियमित रूप से ब्रश करने पर इन निशानों को आसानी से मिटाया जा सकता है. मगर, चारकोल टूथपेस्ट दांतों की पूरी तरह से सफाई करने में असमर्थ होता है. जिसके कारण दांतों पर निशान बरकरार रह सकते हैं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health tips, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: