किसान पुत्र

भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्री श्री डॉ. मुरुगन आंध्र प्रदेश राज्य में पत्रकारों के सामने आने वाली समस्याओं के समाधान में सहायता करने के लिए आंध्र प्रदेश स्मॉल एंड मीडियम न्यूजपेपर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष बी. सतीश बाबू ने एक विनती पत्र को सौंपा


सच्चा दोस्त/तिरूपति/रिपोर्टर/ मनोज कुमार सुराणा

भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्री श्री डॉ. मुरुगन आंध्र प्रदेश राज्य में पत्रकारों के सामने आने वाली समस्याओं के समाधान में सहायता करने के लिए आंध्र प्रदेश स्मॉल एंड मीडियम न्यूजपेपर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष बी. सतीश बाबू ने एक विनती पत्र को सौंपा । वे भाजपा के रायलसीमा जोनल की बैठक में मुख्य अतिथि थे, उस समय सतीश बाबू ने अनंतपुर के साथी वरिष्ठ पत्रकार के साथ मिलकर विनती पत्र को सौंपा ।इसमें उन्होंने अफसोस जताया कि आंध्र प्रदेश सरकार पत्रकारों को GO से और मीठे शब्दों में दबा रही है और विशेष रूप से छोटी पत्रिकाओं के अस्तित्व पर सवाल उठाया जा रहा है। उन्होंने यह भी खेद व्यक्त किया कि केंद्र द्वारा दिए जारहे मृत पत्रकारों को वित्तीय सहायता भी नहीं दिया जा रहा हे। याचिका में..

1. यह सुनिश्चित करे कि पत्रकारों के खिलाफ जीओ में संशोधन किया जाए,

2. सरकार ने ACCRIDITATION प्राप्त करने वाले प्रत्येक पत्रकार के लिए 5 सेंट जमीन खरीदके और उन्हें 2 बेडरूम का प्लॉट बनाके देने का आग्रह किया।

3. रेलवे मे रियायत तत्काल बहाल की जाए,

4. कोरोना से मृत पत्रकार केपरिजनों को तत्काल पांच लाख रुपये मुआवजा देने को कहा गया है।

5. 60 साल पार कर चुके पत्रकार को 15000 रुपये पेंशन देने को कहा। 6. छोटे अखबार को लगातार विज्ञापन देने को कहा।

इसका जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह आपकी समस्याओं को हल करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे और केंद्र करोना से मृत हुए 8 पत्रकारों को 5 लाख रुपये का मुआवजा प्रदान किया गया है,क्या इस राज्य में इस का अमल नही हो रहा है क्या केंद्रीय मंत्री ने प्रशन कियाउन्होंने हमें आश्वासन दिया कि अगर वे हमें करोना से मौत हुए पत्रकारों का विवरण प्रदान करते हैं तो वे केंद सरकार द्वारा 5 लाख रुपये प्रदान करेंगे। इस कार्यक्रम में एसोसिएशन के सदस्य रामंजनेय प्रसाद और आरएसएस वेंकटरेड्डी ने भाग लिया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: