किसान पुत्र

मार्क बाउचर को राहत, सीएसए ने नस्लवाद और दुर्व्यवहार के सभी आरोप लिए वापस


जोहानिसबर्ग. क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका ने राष्ट्रीय कोच मार्क बाउचर के खिलाफ नस्लवाद समेत दुर्व्यवहार के सारे आरोप वापिस ले लिए है. एक सप्ताह बाद ही बाउचर को अनुशासनात्मक कार्रवाई में अपना पक्ष रखना था. पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज बाउचर पर नस्लवादी बर्ताव का आरोप लगाया गया था जिसकी वजह से उन्हें कोच के पद से भी हटाया जा सकता था. दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर पॉल एडम्स ने उन पर टीम बैठकों के दौरान और मैचों के बाद नस्लवादी अपमानजनक शब्दों वाले गीत गाने का आरोप लगाया था.

सीएसए ने कहा कि एडम्स और दक्षिण अफ्रीका के पूर्व सहायक कोच एनोच एंकवे ने अगले सप्ताह की सुनवाई में पेश नहीं होने का फैसला किया जिसके बाद सारे आरोप बेबुनियाद लग रहे हैं. बाउचर ने एक बयान में कहा, ‘मेरे खिलाफ लगाए गए नस्लवाद के आरोप अनुचित हैं और इससे मैं काफी आहत हुआ हूं.’

इसे भी देखें, पिता बना RR का विस्‍फोटक बल्‍लेबाज, टीम को जीत दिलाने के बाद घर लौटे थे हेटमायर

उन्होंने कहा, ‘पिछले कुछ महीने मेरे और मेरे परिवार के लिए काफी मुश्किल रहे. मुझे खुशी है कि यह सब अब खत्म हो रहा है और सीएसए ने स्वीकार कर लिया कि मेरे खिलाफ आरोप बेबुनियाद हैं. मैं समझता हूं कि मामला अब खत्म हो गया है और इस मामले में आगे कोई बयान नहीं देना चाहता.’

45 वर्षीय बाउचर ने कहा, ‘मैं अपने काम पर फोकस कर रहा हूं जो दक्षिण अफ्रीका टीम को नई ऊंचाइयों तक ले जाना है.’ अपने करियर में 467 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले बाउचर को जनवरी में सीएसए ने 7 पन्ने का आरोप पत्र दिया था जिसमें उन पर नस्लवादी बर्ताव के कारण खेल की साख को ठेस पहुंचाने का भी आरोप लगाया गया था.

Tags: Cricket news, Cricket South Africa, CSA, Graeme Smith, Mark Boucher



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: