किसान पुत्र

जब छोटा था तो परिवार को गरीबी से बाहर निकालने के लिए पढ़ना चाहता था: रोवमैन पॉवेल


नई दिल्ली. आईपीएल के 15वें सीजन (IPL-2022) में दिल्ली कैपिटल्स का प्रतिनिधित्व कर रहे ऑलराउंडर रोवमैन पॉवेल ने अपने यहां तक पहुंचने के सफर पर बात की है. पॉवेल ने बताया कि किस तरह एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाला लड़का वेस्टइंडीज के लिए क्रिकेट खेलने लगा. इसके बाद आईपीएल में भी उन्हें मौका मिला. उन्होंने साथ ही कहा कि वह अपने परिवार को गरीबी से बाहर निकालने के लिए पढ़ना चाहते थे. पॉवेल ने कहा कि अगर वह क्रिकेटर ना होते तो एक सैनिक होते और देश की रक्षा में योगदान दे रहे होते.

रोवमैन पॉवेल दिल्ली कैपिटल्स टीम के अहम सदस्य हैं. वह आईपीएल 2022 में टीम के निचले क्रम के पावर-हिटर के रूप में उभरे हैं. उन्होंने अब तक टूर्नामेंट में कुछ शानदार पारियां खेली हैं और टीम तनावपूर्ण परिस्थितियों के दौरान उन पर निर्भर रही है. दिल्ली कैपिटल्स के पॉडकास्ट के हालिया एपिसोड में पॉवेल ने अपने परिवार और पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में एक भावुक कहानी साझा की.

इसे भी देखें, पिता बना RR का विस्‍फोटक बल्‍लेबाज, टीम को जीत दिलाने के बाद घर लौटे थे हेटमायर

पॉवेल ने कहा, ‘मैं एक छोटे से गांव (जमैका में) से आता हूं. गांव में खेती ज्यादातर परिवारों के लिए आय का प्रमुख जरिया है. हालांकि मेरा सपना बचपन के दिनों से ही अलग था. मैं चाहता था कि क्रिकेट और पढ़ाई के जरिए अपने परिवार को गरीबी से बाहर निकालूं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘क्रिकेट अच्छा चल रहा है, ईश्वर की कृपा के लिए शुक्रिया. पेशेवर क्रिकेटर बनने से पहले मैं एक सैनिक बनने वाला था. अगर क्रिकेट ना बन पाता तो मैं एक सैनिक होता.’ उन्होंने साथ ही दिल्ली फ्रेंचाइजी के माहौल और साथी खिलाड़ियों के साथ अपने अच्छे रिश्ते पर भी बातें की.

उन्होंने कहा, ‘कैरेबियाई होने के नाते मेरे लिए यहां आना और घर जैसा महसूस करना बहुत महत्वपूर्ण था. दिल्ली कैपिटल्स ने मुझे अपने परिवार के एक हिस्से के रूप में स्वीकार किया है और मैं यहां घर जैसा महसूस कर रहा हूं.’ पॉवेल ने टीम के कप्तान ऋषभ पंत की भी तारीफ की.

Tags: Cricket news, Delhi Capitals, IPL 2022, Rovman Powell, West Indies Cricketer



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: