किसान पुत्र

पूरी नींद लेने पर भी दिनभर महसूस होती है थकान, ये 7 बुरी आदतें हो सकती हैं वजह


आजकल की लाइफस्टाइल में ऑफिस टाइम के बाद इंसान के पास इतना वक्त नहीं होता कि वो अपनी 8 घंटे की नींद पूरे ले सके. घर जाने के बाद माइंड को फ्रेश करने के लिए कुछ लोग बाहर घूमने चले जाते हैं, कुछ घर में टीवी देखते हैं और कुछ फिजिकल या सोशल एक्टिविटी में बिजी हो जाते हैं. नतीजा ये होता है कि लोग रात के समय मुश्किल से 5-6 घंटे की नींद लेते हैं और दिनभर थका हुआ महसूस करते हैं, जो कि कुछ हद तक समझ आता है. लेकिन, कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो अपनी 8-9 घंटे की पूरी नींद लेते हैं फिर भी वो अगले दिन थकान (Tired) महसूस करते हैं. इसका सीधा सा मतलब है कि वो कहीं ना कहीं अपनी सेहत को लेकर कुछ लापरवाही कर रहे हैं.

असल में लोग ऐसी कई गलतियां (Mistakes) करते हैं जिनके कारण उन्हें हर समय थका हुआ महसूस होता है. आगे चलकर यही गलतियां आदत यानी हैबिट्स बन जाती हैं, तो और ज्यादा परेशानी होती है. आइए जानें ये कौनसी आदतें हैं जिनसे आपको दूर रहना चाहिए.

लगातार बैठे रहना 
लंबे वर्किंग आवर में हमें काफी देर तक कंप्यूटर पर बैठना पड़ता है. ये अपने आप में थकाने वाला काम होता है. इससे बैठे-बैठे आदमी सुस्त हो जाता है, और ऐसा लगने लगता है कि बॉडी से एनर्जी खत्म हो गई है. ऐसे में क्या करना चाहिए, हर दो से तीन घंटे के बीच थोड़ा चल लें. एक वॉक लें,  कम से कम 15-20 चलने की कोशिश करें. ताकि आपके पैरों की जाम हुई नसें खुल जाएं और ब्लड सर्कुलेशन फिर से शुरू हो.

ब्रेकफास्ट छोड़ना
सुबह की भागदौड़ और काम पर पहुंचने की जल्दी अक्सर हमारे नाश्ते के टाइम को प्रभावित करती है. हम कई बार अपना ब्रेकफास्ट नहीं लेते और सीधा ऑफिस के लिए निकल जाते हैं. ऑफिस पहुंचने के बाद फिर काम में लग जाते हैं और खाने का कुछ ध्यान नहीं रहता. इस बात का ध्यान रखें कि ब्रेकफास्ट आपको पूरे दिन एनर्जी देने के लिए एक जरूरी डाइट है. इसे स्कीप करने का मतलब खुद को सुस्त और कमजोर बनाना है.

पानी कम पीना
अक्सर ये देखने में आता है कि हम लंबे समय तक काम में व्यस्त रहने के दौरान पानी पीना ही भूल जाते हैं. एयर कंडीशनर ऑफिस में लगातार बैठे रहने की वजह से प्यास का एहसास नहीं होता. लेकिन पानी केवल प्यास लगने के लिए ही जरूरी नहीं है. पर्याप्त पानी ना पीने से शरीर में डिहाइड्रेशन होता है जिससे थकान महसूस होने लगती है. डिहाइड्रेशन से शरीर में ब्लड का वॉल्यूम कम हो जाता है और शरीर में ब्लड सर्कुलेशन में रुकावट पैदा होने लगती है.

यह भी पढ़ें-
सेल्‍फ क्‍लीनिंग का सबसे अच्‍छा माध्‍यम है योग और ध्‍यान, इस तरह करें रोज अभ्‍यास

जंक फूड हैबिट
अक्सर जब हम अपना ब्रेकफास्ट स्कीप कर देते हैं और एक ऐसी सिचुएशन में पहुंचते हैं जहा खाना और ब्रेकफास्ट दोनों खाने है और टाइम नहीं है, तो अक्सर जंक फूड की तरफ रुख करते हैं. वर्किंग स्टेशन पर ही आसानी से खाए जाने वाला जंक फूड भी शरीर को थका हुआ और कभी-कभी थुलथुला भी बना देता है. इसलिए आए दिन जंक फूड खाने की आदत भी छोड़ दें.

हवा-धूप ना लेना
पूरे दिन ऑफिस या घर में ही बिता देना सेहत के लिए ठीक नहीं है. शरीर को बाहर की हवा और धूप लगना भी जरूरी है. बाहर आना-जाना एनर्जी (Energy) रिस्टोर करने के लिए अच्छा है. कम से कम 10-15 मिनट बाहर की धूप जरूर खाएं.

क्षमता से ज्यादा मेहनत
एक और बुरी आदत जो थकान की वजह बनती है वो है अपनी क्षमता से ज्यादा काम करना. जब व्यक्ति जरूरत से ज्यादा काम करने लगता है तो उसका शरीर भी थकान से भर जाता है. इसलिए उतना ही काम करें जितने की शरीर इजाजत देता है.

यह भी पढ़ें-
बार-बार आता है चक्कर? इन 4 हेल्दी उपायों को आजमाकर पाएं इस समस्या से छुटकारा

नशे की लत
अक्सर ये देखा गया है कि लोग पूरे दिन की थकान उतारने के लिए शाम को एल्कोहल ले लेते हैं. जानकार बताते हैं कि सोने से पहले एल्कोहल का सेवन भी आपके शरीर को सुस्त बनाता है. अगर आप हर दूसरे दिन ऐसा ही करते हैं, तो आपकी थकान का एक कारण यह भी हो सकता है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health, Health News, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: