किसान पुत्र

कभी अपने मां-बाप से नहीं मिले एंड्रयू साइमंड्स, खुद सुनाया था पूरा किस्सा


नई दिल्ली. दुनिया के दिग्गज ऑलराउंडरों में शुमार एंड्रयू साइमंड्स का कार दुर्घटना में निधन हो गया. वह 46 साल के थे. उनके निधन पर कई दिग्गजों ने दुख जताया. साइमंड्स ने क्रिकेट जगत में कई बड़ी उपलब्धियां हासिल कीं. वह ऑस्ट्रेलिया के लिए खेले लेकिन उनका जन्म इंग्लैंड में हुआ था. साइमंड्स कभी अपने जैविक माता-पिता से मिले ही नहीं. इस बारे में उन्होंने खुद एक बार खुलकर बात की थी.

एंड्रयू साइमंड्स के जैविक माता-पिता में से एक एफ्रो-कैरेबियन थे और दूसरा डेनमार्क या स्वीडिश मूल का बताया जाता था. उनका जन्म 9 जून 1975 को इंग्लैंड के बर्मिंघम में हुआ था. साइमंड्स ने अपने माता-पिता के बारे में पिछले महीने ही ‘द ब्रेट ली’ पॉडकास्ट में बात की थी. उन्होंने कहा था, ‘मैं एक गोद लिया हुआ बच्चा हूं, इसलिए मैं अपने बायोलॉजिकल (जैविक) माता-पिता को जानता ही नहीं. मेरी कभी उनसे मुलाकात तक नहीं हुई. जब मैं महज 6 सप्ताह का था तो मेरे माता-पिता ने एक बच्चे को गोद लेने के लिए आवेदन किया.’

इसे भी देखें, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर एंड्रयू साइमंड्स का कार हादसे में निधन, वॉर्न के बाद दुनिया ने खोया एक और दिग्गज

दरअसल, जन्म के बाद ही साइमंड्स को गोद लेने के लिए दे दिया गया था. फिर उन्हें केन और बारबरा ने 3 महीने की उम्र में गोद लिया. साइमंड्स ने आगे कहा, ‘मुझे याद है कि मां ने कहानी सुनाई थी कि वे मुझे कुछ सप्ताह के लिए घर ले गए. मैं खेला लेकिन बहुत रोता था. इसलिए वे वापस उस क्लीनिक गए, जहां से मुझे गोद लिया गया था. उनसे पूछा गया- वह बच्चा कैसा है तो मेरे माता-पिता ने जवाब दिया- वह एक फरिश्ता है, हम उस बच्चे को अपने पास रखना चाहते हैं.’

इसके बाद उनका नाम एंड्रयू साइमंड्स रखा गया, केनेथ वाल्टर और बारबरा का बेटा. साइमंड्स ने अपने करियर में 26 टेस्ट, 198 वनडे और 14 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले. उन्होंने टेस्ट में 2 शतक, 10 अर्धशतकों की बदौलत 1462 रन, वनडे में 6 शतक और 30 अर्धशतकों की मदद से कुल 5088 रन बनाए.

Tags: Andrew Symonds, Australia, Cricket news



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: